संदेश ! हमारी सोच, आपकी पहचान !
संदेश ! हमारी सोच, आपकी पहचान !
15 Oct 2019 5:44 PM
BREAKING NEWS
ticket title
धनबाद म्यूनिशिपल कॉरपोरेशन के वार्डों का रिजर्वेशन रोस्टर जारी
कोलकाता : CIL कंपनी CCL में अकाउंटेंट के 57 व ईसीएल में फोरमैन के लिए 75 वैकेंसी
धनबाद : गांजा तस्करी में इसीएल स्टाफ चिरंजीत घोष को जेल मामले में निरसा थानेदार व आईओ के खिलाफ होगी कार्रवाई
धनबाद : शारदीय नवरात्र एवं गांधी जयंती के शुभ अवसर पर “मातृशक्ति समारोह” का आयोजन
नियम व शर्तो के साथ मदर डेयरी का दूध हुआ 4 रुपये तक सस्ता
अब उत्तर प्रदेश से घुसपैठियों को किया जाएगा बाहर, NRC पर पुलिस प्रशासन ने तैयार किया प्लान
महात्मा गांधी जयंती पर जम्मू कश्मीर के नजरबंद नेताओं को बड़ी राहत
तेजस एक्सप्रेस को लेट होने पर अब यात्रियों को IRCTC देगी मुआवजा
अमित शाह ने ममता बनर्जी को चेताया – जिसके पकड़ते हैं फिर उसे छोड़ते नहीं है
देश में 80 रुपए के पार पहुंचा पेट्रोल, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर बढ़ोतरी

IIT मद्रास दीक्षांत समारोह : कहीं भी रहो, कुछ भी करो, अपनी मातृभूमि को मन में रखो : पीएम

Post by relatedRelated post

चेन्नई: पीएम नरेंद्र मोदी ने छात्रों को सलाह दी है कि कहीं भी रहो, कुछ भी करो, अपनी मातृभूमि को मन में रखो. उन्होंने छात्र व युवाओं से अपनी मातृभूमि भारत से जुड़े रहने की अपील की. पीएम ने रविवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मद्रास के 56वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित करते हुए न्यू इंडिया’ विजन के बारे में बताते हुए इनोवेशन और टीम वर्क के लिए प्रोत्साहित किया.
पीएम ने कहा कि 21 वीं शताब्दी की स्थापना तीन जरूरी स्तंभों पर टिकी हुई है- इनोवेशन, टेक्नॉलजी और टीम वर्क. उन्होंने कहा कि मैं अभी अमेरिका से लौटा हूं. इस दौरान मैं कई देशों के मुखिया से मिला, इनोवेटर, इंवेस्टर्स से मिला है. हमारी चर्चा में एक चीज कॉमन थी- न्यू इंडिया को लेकर हमारा विजन और भारत के युवाओं की योग्यता पर भरोसा. उन्होंने कहा कि ‘मैं सबसे गुजारिश करना चाहता हूं कि आप चाहे जहां काम करे, जहां कहीं भी रहें, दिमाग में हमेशा अपनी मातृभूमि भारत की जरूरत को रखें. पीएम ने सभी छात्रों से खड़े होकर अपने टीचर, पैरंट्स और सपोर्टिंग स्टाफ का अभिवादन करने को कहा. इस दौरान सभी छात्रों ने अपनी जगह से खड़े होकर ताली बजाई.

पीएम ने तमिलनाडु की भाषा का उल्लेख करते हुए कहा कि यहां पहाड़ चलते हैं और नदियां स्थिर होती हैं. हम तमिलनाडु में हैं, जिसे एक विशेष गौरव प्राप्त है, यह दुनिया की सबसे पुरानी भाषा का घर है और यह भारत में सबसे नई भाषा में से एक है.

आईआईटी-मद्रास लिंगो मैं अपने विद्यार्थी मित्रों से आग्रह करता हूं कि वे मेरे शिक्षकों, अभिभावकों और सहयोगी स्टाफ की सराहना करें और खड़े होकर ओवेशन दें.मेरा आप सभी से अनुरोध है. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां काम करते हैं, चाहे आप कहीं भी रहें, अपनी मातृभूमि, भारत की जरूरतों को ध्यान में रखें.उन्होंने छात्रों से कहा कि आपका दीक्षांत समारोह आपके कोर्स का निष्कर्ष हो सकता है लेकिन यह आपकी शिक्षा का अंत नहीं है. एजुकेशन और लर्निंग हमेशा चलने वाली प्रक्रिया है. हम जब तक जीते हैं कुछ न कुछ सीखते हैं.

पीएम ने प्लास्टिक का इस्तेमाल रोकने के लिए नए विकल्प पर जोर देते हुए कहा कि आज, एक समाज के रूप में, हम प्लास्टिक के उपयोग से आगे बढ़ना चाहते हैं. इसका ईको फ्रेंडली विकल्प क्या हो सकता है जिसे इसी तरह उपयोग में लाया जा सके लेकिन उसका प्लास्टिक के बराबर नुकसान न हो? हम आपके जैसे इनोवेटर्स से इसकी खोज चाहते हैं. पीएम ने आईआईटी पास आउट को मेसेज देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कभी सपने देखना बंद न करो और खुद को चुनौतियों के सामने पेश करो. इस तरह आप खुद को विकसित करते रहेंगे और अपना एक बेहतर वर्जन तैयार कर पायेंगें. पूरे वर्ल्ड में इंडियन ने अपनी एक पहचान बनाई है. खासकर, साइंस, टेक्नॉलजी और इनोवेशन के क्षेत्र में. इन्हें कौन शक्ति दे रहा है? इनमें से कई आईआईटी सीनियर हैं.’

अगली चुनौती स्टार्टअप के लिए बाजार ढूंढना है
पीएम ने कहा कि हमारी अगली चुनौती स्टार्ट अप को विकसित करने के लिए एक बाजार ढूंढना है. स्टार्ट-अप इंडिया प्रोग्राम इस चुनौती को पूरा करने में आपकी मदद करने के लिए बनाया गया है.

सिंगापुर-भारत हैकथॉन 2019 में अपने संबोधन में कहा कि दोस्तों आप चुनौतीपूर्ण समस्याओं को हल करने के लिए पिछले 36 घंटों से काम कर रहे हैं. आपको और आपकी ऊर्जा को सलाम और मुझे थकान नहीं दिखती. मुझे एक कार्य की संतुष्टि अच्छी तरह से पूरी होती है.देश के युवाओं की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि पूरी दुनिया के लिए समस्याओं का भारतीय समाधान बनाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं. स्कूलों से लेकर उच्च शिक्षा और अनुसंधान के लिए एक ऐसा तंत्र बनाया गया जिससे नई चीजों की खोज हुई, इसी के बल पर देश Innovation के मामले में शीर्ष तीन देशों में से एक बन पाया है. भारत अपनी अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना चाहता है और इसमें स्टार्ट अप और Innovation का प्रमुख रोल होगा.’हैकथॉन युवाओं के लिए महान हैं.प्रतिभागियों को वैश्विक समस्याओं के समाधान के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी तक पहुंच मिलती है.

पीएम ने कहा कि मेरा दृढ़ विश्वास है कि आज के हैकथॉन में पाए जाने वाले समाधान कल के लिए स्टार्ट-अप विचार है. मैं हैकथॉन के विजेताओं को बधाई देता हूं और प्रत्येक युवा मित्र यहां इकट्ठा होता है. चुनौतियों का सामना करने और व्यवहारिक समाधान खोजने की आपकी इच्छा सिर्फ एक चुनौती जीतने की तुलना में बहुत बड़ी कीमत है.यहां मेरे युवा दोस्तों ने आज कई समस्याओं को हल किया. मैं विशेष रूप से कैमरे के बारे में समाधान पसंद करता हूं ताकि पता लगाया जा सके कि कौन ध्यान दे रहा है. मैं संसद में अपने अध्यक्ष से बात करूंगा. मुझे यकीन है कि यह संसद के लिए बहुत उपयोगी होगा.पीएम मोदी ने कहा कि मैने अपनी अमेरिकी यात्रा के दौरान मैंने देखा कि विश्व की आगे बढ़ रहे भारत से बहुत उम्मीदें हैं. हम निश्चित तौर पर भारत का तेजी से कल्याण सुनिश्चित करेंगे. हम इसे इतना महान देश बनाएंगे कि यह दुनिया के लिए उपयोगी साबित होगा.

Tags: , ,

मनोंरजन / फ़ैशन

27 फिल्मो की दौड़ में ‘गली बॉय’ ऑस्कर के लिए चुना गया
27 फिल्मो की दौड़ में ‘गली बॉय’ ऑस्कर के लिए चुना गया

नई दिल्ली: मूवी ‘गली बॉय’ को बेस्ट इंटरनैशनल फीचर फिल्म कैटिगरी में 92वें अकादमी अवॉर्ड्स के लिए भारत की ऑफिशल एंट्री के रूप में चुना गया है. जोया अख्तर ने इस मूवी को डायरेक्ट किया था. मूवी में ऐक्टर रणवीर सिंह और आलिया भट्ट लीड रोल में है. फिल्म का प्रीमियर बर्लिन फिल्म फेस्टिवल हुआ…

Read more

अन्य ख़बरे

Loading…

sandeshnow Video


Contact US @

Email: [email protected]

Phone: +9431124138

Address: Dhanbad, Jharkhand

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com