संदेश ! हमारी सोच, आपकी पहचान !
संदेश ! हमारी सोच, आपकी पहचान !
15 Aug 2022 5:44 PM
BREAKING NEWS
ticket title
धनबाद में दो अतिरिक्त कोविड अस्पताल को मिली मंजूरी, पीएमसीएच कैथ लैब में दो सौ बेड का होगा कोविड केयर सेंटर
सांसद पुत्र के चालक की कोरोना से मौत, 24 घंटे में दो मौत से मचा हड़कंप
बेरमो से हॉट स्पॉट बने जामाडोबा तक पहुंचा कोरोना ! चार दिन में मिले 34 कोविड पॉजिटीव
विधायक-पूर्व मेयर की लड़ाई की भेंट चढ़ी 400 करोड़ की योजना
वाट्सएप पर ही पुलिसकर्मियों की समस्या हो जाएगी हल, एसएसपी ने जारी किया नंबर
CBSE की 10वीं और 12वीं परिणाम 15 जुलाई तक घोषित कर दिए जाएंगे
डीजल मूल्यवृद्धि का असर कहां,कितना,किस स्तरपर,किस रूप में पड़ेगा- पढ़े रिपोर्ट
झरिया विधायक से मिलने पहुंचे छोटे व्यवसायियों
पेट्रोलियम पदार्थ को लेकर झामुमो द्वारा विरोध प्रदर्शन
बिहार में आंधी-बारिश, ठनका गिरने से 83 लोगों की मौत

धनबाद : बैंक यूनियनों ने पीएनबी में धोखाघड़ी की सीबीआइ जांच की मांग की

Post by relatedRelated post

धनबाद: यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ की धोखाघड़ी मामले की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की है. यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन की ओर से मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में यूएफबीइ के संयोजक प्रभात चौधरी ने कहा कि जब बैंक भारी पैमाने पर लोन एनपीए होने की समस्या का सामना कर रहे हैं और अर्जित मुनाफे से किये गये प्रावधानों के कारण नुकसान में जा रहे हैं. ऐसे में पंजाब नेशनल बैंक में धोखाघड़ी एक बहुत बड़ा झटका है जिसने कॉरपोरेट लूट की बढ़ती प्रवृत्ति को उजागर किया है. कोई ब्रांच अफसर छह से सात वर्ष की अवधि में 11400 करोड़ के लिए एलओयू(लेटर ऑफ अंडरटेकिंग) दे देगा, स्विफ्ट द्वारा कोडेड संदेश भी दे देगा और नोस्ट्रो अकाउंट में पैसा भी जमा कर देगा और किसी को कानों- कान खबर नहीं होगा. यह अविश्वशनीय है. सीबीआइ पूरे मामले की जांच करे और जांच पूरा होने तक पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंधक निदेशक एवं कार्यकारी निदेशक को अवकाश में भेजा जाये. आरबीआइ के गर्वनर को निगरानी में चूक के लिए नैतिक जिम्मेवारी तय करते हुए पद मुक्त किया जाये. नीरव मोदी और उनके सहयोगी के प्रत्यर्पण कराकर मुकदमें का सामना करने भारत लाया जाये. प्रेस कांफ्रेंस में बीइएफआइ से एसएन घोष, एआइओबीओसी के राजेंद्र कुमार, एआइबीइए के ईश्वर प्रसाद, एआइबीओसी के दीवाकर झा, एनसीबीइ के रवि सिंह भी मौजूद थे.

बैंकों का 253728 करोड़ का लोन डूबा

श्री चौधरी ने कहा कि 12 खराब ऋणों की सूची में विभिन्न बैंकों के 253728 करोड़ का ऋण डूब गया. पांच वर्षों में 250000 करोड़ के ऋण उद्योगपतियों के माफ किये गये. एक भी राष्ट्रीयकृत बैंक सकल हानि में नहीं है. सभी सकल लाभ में है. खराब ऋणों के प्रावधान के चलते कुछ बैंकसकल लाभ से शुद्ध हानि की ओर गये हैं. राष्ट्रीयकरण के बाद से अब तक 36 निजी बैंकों का विलय राष्ट्रीयकृत बैंकों में हुआ है. ऐच्छिक ऋण चूक को संज्ञेय अपराध की श्रेणी में लाकर कड़ाई से ऋणों की वसूली किया जाये. उनकी निजी संपत्ति को भी ऋण वसूली के दायरे में लाया जाये.

बैंकों के बड़े ऋण बकायेदार

नाम रकम

भूषण स्टील 44478 करोड़

भूषण पावर एंड स्टील 37248 करोड़

लेन्को इंफ्रा 44364 करोड़

इस्सार स्टील 37284 करोड़

आलोक इंडस्ट्रीज 22075 करोड़

एमटेक ओटो 14074 करोड़

मोनेट इस्पात 12115 करोड़

इलेक्ट्रोस्टील स्टील 10273 करोड़

इरा इंफ्रा 10065 करोड़

जेपी इंफ्राटेक 9635 करोड़

एवीजी शिपयार्ड 6953 करोड़

ज्योति स्ट्रक्चरर्स 5165 करोड़

मनोंरजन / फ़ैशन

रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, 5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप
रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, 5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

धोखाधड़ी का यह मामला साल 2016 का बताया गया है एक प्रॉपर्टी डीलर ने रेमो डिसूजा पर 5 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवाया था सेक्शन 420, 406, 386 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई गाजियाबाद । डांस की दुनिया के ग्रेंड मास्टर में शुमार मशहूर कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा के लिए एक बुरी…

Read more

अन्य ख़बरे

Loading…

sandeshnow Video


Contact US @

Email: swebnews@gmail.com

Phone: +9431124138

Address: Dhanbad, Jharkhand

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com