संदेश !
16 Jun 2019 5:44 PM
BREAKING NEWS
ticket title
नई दिल्ली: कुछ लोगों के लिए देश नहीं, परिवार और हित महत्वपूर्ण: पीएम
जम्मू-कश्मीर: Pulwama सीआरपीएफ काफिले पर हमले का मास्टर माइंड गाजी समेत तीन आतंकी ढेर, आर्मी का मेजर समेत चार जवान शहीद, DIG व ब्रिगेडियर घायल
भाजपा विधायक के बर्थडे प्रोग्राम में बीवी और गर्लफ्रेंड का हो गया सामना और फिर सरेआम ……
कोलकाता : विधायक हत्याकांड में हाईकोर्ट ने मुकुल रॉय की गिरफ्तारी पर लगायी रोक
इजराइल से 54 किलर ड्रोन की डील को भारत सरकार की मंजूरी
रांची: झारखंड के 70 हजार हजार पुलिसकर्मियों ने लगाया काला बिल्ला, फस्ट फेज का का आंदोलन शुरु
पीएम मोदी 17 फरवरी को डीसी लाइन पर पैसेंजर ट्रेन को हजारीबाग से दिखा सकते हैं हरी झंडी
राजस्थान: जैसलमेर में मिग-27 क्रैश पायलट सुरक्षित
सोरेन फैमिली ने ही झारखंड को सबसे ज्यादा लूटा: रघुवर
नई दिल्ली: NIA की जांच शुरु, आतंकी फंडिंग से बनीं मस्जिदों व मदरसों पर मनी लांड्रिंग के तहत होगी कार्रवाई

कैप्टन कोहली और मीराबाई चानू को खेल रत्न, नीरज बने ‘अर्जुन’

Post by relatedRelated post

नई दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और विश्व चैंपियन भारोत्तोलक मीराबाई चानू को प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, जबकि भाला फेंक के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा और धाविका हिमा दास सहित 20 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया.

राष्ट्रपति भवन के अशोका हॉल में आयोजित समारोह में सभी की निगाहें कोहली पर टिकी थीं, जो सचिन तेंदुलकर (1997-98) और महेंद्र सिंह धोनी (2007) के बाद खेल रत्न हासिल करने वाले तीसरे क्रिकेटर बन गए हैं. इससे पहले 2013 में अर्जुन पुरस्कार और पिछले साल पद्म श्री हासिल करने वाले कोहली अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा, मां सरोज कोहली, भाई विकास और कोच राजकुमार शर्मा के साथ समारोह में पहुंचे थे. कोहली कार्यक्रम से पांच मिनट पहले पहुंचे और कार्यक्रम समाप्त होने के तुरंत बाद चले गए.
राष्ट्रपति ने इसके अलावा द्रोणाचार्य पुरस्कार और ध्यानचंद पुरस्कार भी प्रदान किए. द्रोणाचार्य पुरस्कारों को लेकर तब विवाद पैदा हो गया था, जब तीरंदाजी कोच जीवनजोत सिंह का नाम पूर्व में अनुशासनहीनता के एक मामले के कारण इन पुरस्कारों की सूची से हटा दिया गया था. जीवनजोत ने विरोध में कोच पद से इस्तीफा भी दे दिया है. इस अवसर पर खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ भी उपस्थित थे.
विश्व के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज कोहली पिछले तीन साल से बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हैं. उन्हें इससे पहले 2016 और 2017 में भी इस पुरस्कार के लिए नामित किया गया था. कोहली ने अब तक 71 टेस्ट मैचों में 6147 रन और 211 वनडे में 9779 रन बनाए हैं.

चानू को पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में 48 किग्रा में स्वर्ण पदक जीतने के कारण इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुना गया. उन्होंने इस साल राष्ट्रमंडल खेलों में भी सोने का तमगा जीता था, लेकिन चोट के कारण एशियाई खेलों में भाग नहीं ले पाई थीं. चानू ने बाद में कहा कि अपने करियर के शुरुआती दौर में ही देश का सर्वोच्च खेल पुरस्कार मिलने से वह हैरान थीं.
राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को पदक और प्रशस्ति पत्र के अलावा 7.5 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है. अर्जुन, द्रोणाचार्य तथा ध्यानचंद पुरस्कार विजेता को लघुप्रतिमाएं, प्रमाण पत्र और पांच लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है.

अर्जुन पुरस्कार हासिल करने वाले खिलाड़ियों में एथलीट नीरज चोपड़ा और हिमा दास आकर्षण का केंद्र रहे. विश्व जूनियर रिकॉर्डधारक चोपड़ा ने इस साल राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में सोने के तमगे जीते, जबकि हिमा फिनलैंड में विश्व अंडर-20 चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बनी थीं. उन्होंने 400 मीटर में यह उपलब्धि हासिल की.
निशानेबाजों का अर्जुन पुरस्कार हासिल करने वालों में फिर से दबदबा रहा. इस बार श्रेयसी सिंह, राही सरनोबत और अंकुर मित्तल को यह पुरस्कार मिला. टेनिस स्टार रोहन बोपन्ना, गोल्फर शुभंकर शर्मा और युवा टेबल टेनिस खिलाड़ी को भी राष्ट्रपति ने अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया.
महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना भारतीय टीम के साथ श्रीलंका दौरे पर होने के कारण समारोह में भाग नहीं ले पाईं. टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना भी पुरस्कार समारोह में नहीं पहुंच सके.

पुरस्कार विजेताओं की सूची –

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार-

विराट कोहली और मीराबाई चानू

अर्जुन पुरस्कार-

नीरज चोपड़ा, जिन्सन जॉनसन और हिमा दास (एथलेटिक्स), एन सिक्की रेड्डी (बैडमिंटन), सतीश कुमार (मुक्केबाजी), स्मृति मंधाना (क्रिकेट), शुभंकर शर्मा (गोल्फ), मनप्रीत सिंह, सविता (हॉकी), रवि राठौड़ (पोलो), राही सरनोबत, अंकुर मित्तल, श्रेयसी सिंह (निशानेबाजी), मनिका बत्रा, जी सथियान (टेबल टेनिस), रोहन बोपन्ना (टेनिस), सुमित (कुश्ती), पूजा काडिया (वुशु), अंकुर धामा (पैरा-एथलेटिक्स), मनोज सरकार (पैरा-बैडमिंटन)

द्रोणाचार्य पुरस्कार-

सी ए कुट्टप्पा (मुक्केबाजी), विजय शर्मा (भारोत्तोलन), ए श्रीनिवास राव (टेबल टेनिस), सुखदेव सिंह पन्नू (एथलेटिक्स), क्लेरेंस लोबो (हॉकी, आजीवन), तारक सिन्हा (क्रिकेट, आजीवन), जीवन कुमार शर्मा (जूडो, आजीवन), वीआर बीडु (एथलेटिक्स, आजीवन)

ध्यान चंद पुरस्कार-

सत्यदेव प्रसाद (तीरंदाजी), भरत कुमार छेत्री (हॉकी), बॉबी अलॉयसियस (एथलेटिक्स), चौगले दादू दत्तात्रेय (कुश्ती)

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार-

उदीयमान और युवा प्रतिभा पहचान और प्रोत्साहन – राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड

कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के माध्यम से खेल प्रोत्साहन – जेएसडब्ल्यू स्पोर्ट्स

विकास के लिए खेल – ईशा आउटरीच

मौलाना अबुल कलाम आजाद (एमएकेए) ट्रॉफी 2017-18 : गुरुनानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार, 2018 में कंपनियों को ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र दिया गया, जबकि अंतर-विश्वविद्यालय टूर्नामेंट में शीर्ष प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय को एमएकेए ट्रॉफी, 10 लाख रुपये का पुरस्कार और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया.

मनोंरजन / फ़ैशन

बंगाल में पूर्व सीएम अर्जुन मुंडा की सभा को नहीं मिली अनुमति
बंगाल में पूर्व सीएम अर्जुन मुंडा की सभा को नहीं मिली अनुमति

कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बाद अब झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को पश्चिम बंगाल में सभा करने से रोक दिया गया. श्री मुंडा बीच रास्ते से ही लौट गये. अर्जुन मुंडा संवाददाताओं से कहा कि बंगाल की सरकार जिस तरह से…

Read more

अन्य ख़बरे

Loading…

sandeshnow Video


Contact US @

Email: [email protected]

Phone: +9431124138

Address: Dhanbad, Jharkhand

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com