संदेश !
20 Apr 2019 5:44 PM
BREAKING NEWS
ticket title
नई दिल्ली: कुछ लोगों के लिए देश नहीं, परिवार और हित महत्वपूर्ण: पीएम
जम्मू-कश्मीर: Pulwama सीआरपीएफ काफिले पर हमले का मास्टर माइंड गाजी समेत तीन आतंकी ढेर, आर्मी का मेजर समेत चार जवान शहीद, DIG व ब्रिगेडियर घायल
भाजपा विधायक के बर्थडे प्रोग्राम में बीवी और गर्लफ्रेंड का हो गया सामना और फिर सरेआम ……
कोलकाता : विधायक हत्याकांड में हाईकोर्ट ने मुकुल रॉय की गिरफ्तारी पर लगायी रोक
इजराइल से 54 किलर ड्रोन की डील को भारत सरकार की मंजूरी
रांची: झारखंड के 70 हजार हजार पुलिसकर्मियों ने लगाया काला बिल्ला, फस्ट फेज का का आंदोलन शुरु
पीएम मोदी 17 फरवरी को डीसी लाइन पर पैसेंजर ट्रेन को हजारीबाग से दिखा सकते हैं हरी झंडी
राजस्थान: जैसलमेर में मिग-27 क्रैश पायलट सुरक्षित
सोरेन फैमिली ने ही झारखंड को सबसे ज्यादा लूटा: रघुवर
नई दिल्ली: NIA की जांच शुरु, आतंकी फंडिंग से बनीं मस्जिदों व मदरसों पर मनी लांड्रिंग के तहत होगी कार्रवाई

पश्चिम बंगाल# जान दे दूंगी पर पीछे नहीं हटूंगी, सुप्रीम कोर्ट में कल होगी सुनवाई

Post by relatedRelated post

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के धरने को 24 घंटे से ज्ादा बीत गये हैं. वह सेंट्रल गर्वमेंट पर खिलाफ आर-पार के मूड में दिखायी दे रही हैं. विपक्षी दलों के नेताओं ने ममता के समर्थन में एकजुटता दिखाया है. वहीं बीजेपी ने ममता पर षडयंत्र का आरोप लगाया है. बीजेपी ने सवाल किया है कि आखिर ऐसी कौन सी बात है कि ममता बनर्जी अपने नेताओं की गिरफ्तारी पर चुप रहीं पर अब एक पुलिस कमिश्नर को बचाने के लिए धरने पर बैठ गयी है. पश्चिम बंगाल की CM ममता ने सोमवार की शाम सख्त तेवर दिखाते हुए ऐलान कर दिया कि मैं जान देने के लिए तैयार हूं लेकिन समझौता नहीं करूंगी. ममता ने इससे पहले धरने के बीच ही पुलिसवालों को सम्मानित किया. पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी इस दौरान साथ खड़े थे.

ममता ने कहा, ”जब केंद्र ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को हाथ लगाया तो मैं सड़क पर नहीं आयी. मुझे इस बात पर नाराजगी है कि केंद्र ने एक सीनीयर पोस्ट (कोलकाता पुलिस कमिश्नर) का अपमान किया.” दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू, जम्मू-कश्मीर के एक्स सीएम उमर अब्दुल्ला, मनसे के राज ठाकरे समेत 9 विपक्षी दलों के नेताओं ने ममता का समर्थन किया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने भी इस मसले पर ममता बनर्जी से फोन पर बात की.सीएम ममता बनर्जी धरना स्थल से ही सरकार का कामकाज भी देख रही हैं. सोमवार को धरना स्थल पर ही वह कोलकाता पुलिस और पश्चिम बंगाल पुलिस के एक कार्यक्रम में शामिल हुईं.

धरना स्थल से ही ममता बनर्जी ने सोमवार को फोन पर किसानों की एक सभा को भी संबोधित किया. इस दौरान किसान धरना स्थल से करीब एक किमी दूर नेताजी इनडोर स्टेडियम में मौजूद थे.ममता ने अपने संबोधन में सिंगूर आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा, ‘मैं इसी जगह 2006 में 26 दिनों तक उपवास पर बैठी थी. मेरी मांग थी कि किसानों की जमीन उन्हें वापस दी जाए और हमारे मूवमेंट का असर यह हुआ कि पूरे देश में किसानों को उनकी जमीन का अधिकार मिला.’

उल्लेखनीय है कि सिंगूर में विवाद तब हुआ था जब टाटा मोटर्स कंपनी नैनो कार का संयंत्र स्थापित करने की कोशिश कर रही थी. विवाद बढ़ने पर टाटा ने पश्चिम बंगाल में अपना प्रॉजेक्ट ही रद कर दिया और इसे गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी न्योते पर साणंद ले गये.

इसके बाद वर्ष 2011 में ममता ने 34 साल से सत्ता पर काबिज लेफ्ट फ्रंट की सरकार को करारी शिकस्त दी. ममता ने यह भी दावा किया कि देश में पिछले कुछ वर्षों में करीब 12,000 किसानों ने आत्महत्या की है. उन्होंने आरोप लगाया, ‘बीजेपी और मोदी सरकार ने किसानों की नींद छीन ली है. चुनाव से पहले किसानों को धोखा दिया जा रहा है.

गर्वनर गृह मंत्रालय को भेजी गोपनीय रिपोर्ट

गर्वनर ने केसरी नाथ त्रिपाठी ने पश्चिम बंगाल में सीबीआइ और ममता सरकार के ताजा विवाद को लेकर राज्य के गवर्नर केसरीनाथ त्रिपाठी ने एक गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर गृह मंत्रालय को भेजी है. सूत्रों का कहना है कि गृहमंत्रालय सीबीआई के काम में बाधा डालने के आरोप में वहां मौजूद आईपीएस अधिकारियों पर कार्रवाई कर सकती है.इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गवर्नर से सीबीआई के अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की करने और हिरासत में लिए जाने के दुर्भाग्यपूर्ण मामले पर गृह मंत्रालय को अवगत कराने को कहा था. इसके बाद गवर्नर ने राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी को तलब कर इस मामले में तुरंत ऐक्शन लेकर विवाद को खत्म कराने को कहा था.

इस मामले पर बीजेपी और विपक्षी पार्टियां एक-दूसरे के सामने आ गई हैं. इसे लेकर लोकसभा और राज्य सभा में भी जबरदस्त हंगामा हुआ. विपक्ष के हंगामे के बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले पर जवाब दिया. उन्होंने कहा कि यह देश में पहली बार है कि सीबीआई के अधिकारियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई हुई और उन्हें हिरासत में लिया गया. उन्होंने कहा कि लाखों लोगों की गाढ़ी कमाई को हड़प लेनेवाली कंपनी के खिलाफ सीबीआई को जांच की इजाजत सुप्रीम कोर्ट से मिली थी. मामले की पूछताछ के लिए ही सीबीआई की टीम रविवार को राजीव कुमार के घर पहुंची थी. सीबीआई को राजीव के घर जाने की जरूरत क्यों पड़ी, इसका जवाब देते हुए राजनाथ ने कहा कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे और लगातार समन के बावजूद पूछताछ में हिस्सा लेने नहीं आये थे. राजनाथ ने कहा कि पूछताछ के लिए पहुंची टीम को पुलिस ने रोका और बलपूर्वक हिरासत में ले लिया था. उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि ऐसी घटना से देश के संघीय ढांचे को खतरा है. राजनाथ सिंह ने आगे बताया कि उन्होंने मामले पर बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से भी बात की है. उनसे मामले पर पूरी रिपोर्ट मांगी है.

इधर कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार सीबीआई पूछताछ के खिलाफ कलकत्ता हाई कोर्ट पहुंच गये हैं. उन्होंने हाई कोर्ट से सीबीआई पूछताछ से अंतरिम राहत मांगी है. कलकत्ता हाई कोर्ट राजीव कुमार की याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है और इस मामले में मंगलवार को सुनवाई होगी.

सुप्रीम कोर्ट ने राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करने का फैसला लिया है. याचिका में सीबीआई ने कोर्ट से निवेदन किया था कि वह राजीव कुमार को जांच में सहयोग करने का निर्देश दें. साथ ही सीबीआई ने राजीव कुमार पर अबतक हुई इन्वेस्टिगेशन में साथ न देने का आरोप भी लगाया है. सीबीआई द्वारा राजीव कुमार पर सबूत नष्ट करने का भी आरोप लगाया गया है. इसपर चीफ जस्टिस ने कहा, ‘अगर कोलकाता पुलिस कमिश्नर ने सबूत नष्ट करने की कोशिश की है, तो उससे जुड़े साक्ष्य हमारे सामने लाए जाएं, इसपर ऐसी कार्रवाई होगी कि उन्हें पछताना पड़ेगा.’

मनोंरजन / फ़ैशन

बंगाल में पूर्व सीएम अर्जुन मुंडा की सभा को नहीं मिली अनुमति
बंगाल में पूर्व सीएम अर्जुन मुंडा की सभा को नहीं मिली अनुमति

कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बाद अब झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को पश्चिम बंगाल में सभा करने से रोक दिया गया. श्री मुंडा बीच रास्ते से ही लौट गये. अर्जुन मुंडा संवाददाताओं से कहा कि बंगाल की सरकार जिस तरह से…

Read more

अन्य ख़बरे

Loading…

sandeshnow Video


Contact US @

Email: [email protected]

Phone: +9431124138

Address: Dhanbad, Jharkhand

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com