संदेश ! हमारी सोच, आपकी पहचान !
संदेश ! हमारी सोच, आपकी पहचान !
29 Oct 2020 5:44 PM
BREAKING NEWS
ticket title
धनबाद में दो अतिरिक्त कोविड अस्पताल को मिली मंजूरी, पीएमसीएच कैथ लैब में दो सौ बेड का होगा कोविड केयर सेंटर
सांसद पुत्र के चालक की कोरोना से मौत, 24 घंटे में दो मौत से मचा हड़कंप
बेरमो से हॉट स्पॉट बने जामाडोबा तक पहुंचा कोरोना ! चार दिन में मिले 34 कोविड पॉजिटीव
विधायक-पूर्व मेयर की लड़ाई की भेंट चढ़ी 400 करोड़ की योजना
वाट्सएप पर ही पुलिसकर्मियों की समस्या हो जाएगी हल, एसएसपी ने जारी किया नंबर
CBSE की 10वीं और 12वीं परिणाम 15 जुलाई तक घोषित कर दिए जाएंगे
डीजल मूल्यवृद्धि का असर कहां,कितना,किस स्तरपर,किस रूप में पड़ेगा- पढ़े रिपोर्ट
झरिया विधायक से मिलने पहुंचे छोटे व्यवसायियों
पेट्रोलियम पदार्थ को लेकर झामुमो द्वारा विरोध प्रदर्शन
बिहार में आंधी-बारिश, ठनका गिरने से 83 लोगों की मौत

धारा 376 क्यों नहीं. भुक्तभोगी के बयान पर भी पुलिस को भरोसा नहीं, सुदामडीह थाना घेराव, हंगामा

Post by relatedRelated post

धारा 376 क्यों नहीं. भुक्तभोगी के बयान पर भी पुलिस को भरोसा नहीं, सुदामडीह थाना घेराव, हंगामा . पीड़िता बोल रही दुष्कर्म हुआ, पुलिस कह रही केवल छेड़छाड़

पीएमसीएच में गंभीर रूप से घायल पीड़िता की हालत अभी नाजुक

किसी तरह टीम की अध्यक्ष को दिया अपना बयान

पुलिस ने हिरासत में लिये गये तीनों को जेल भेजामेडिकल जांच की मांग के लिए लोगों ने किया थाना में प्रदर्शन

सुदामडीह रिवर साइड दोनों लाइन के बीच की एक किशोरी (14) को अगवा कर दुष्कर्म के प्रयास के मामले में गुरुवार को माहौल काफी गर्म रहा. विभिन्न दलों के नेताओं ने पीड़िता की मेडिकल जांच कराने, घटना में वाहनों व शेष तीन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को ले कर थाना का घेराव किया. इधर, बाल आयोग की अध्यक्ष के सामने पीड़िता ने पीएमसीएच में कहा है कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है, जबकि पुलिस ने छेड़छाड़ व मारपीट की धारा आरोपियों पर लगाया है.

गुरुवा को विभिन्न दलों के लोगों ने प्रयुक्त सफेद बोलेरो, एक मोटरसाइकिल व अन्य तीन अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर सुदामडीह थाना का घेराव किया. इस दौरान हंगामा भी हुआ. सिंदरी डीएसपी प्रमोद कुमार केसरी, जोरापोखर इंस्पेक्टर जय कृष्ण, पाथरडीह पुलिस व पीसीआर वैन के साथ पुलिस बल सुदामडीह थाना पहुंची. पुलिस ने कांड अंकित कर आरोपी साजिद अंसारी, मो साहेब व रोशन कुमार को जेल भेज दिया. प्रदर्शनकारी पुलिस पर मामले को लीपापोती करने का आरोप लगा रहे थे. अन्य तीन आरोपियों की गिरप्तारी व घटना में शामिल बोलेरो, एक मोटरसाइकिल को भी शीघ्र जब्त करने की मांग की जा रही थी. उसके बाद सिंदरी डीएसपी प्रमोद कुमार केसरी द्वारा न्याय दिलाने के आश्वासन के बाद घेराव कार्यक्रम हटाया गया. आंदोलन में विहिप के अजय दास, सत्यजीत सिंह, रिंकू महतो, आनंद महतो, मिलन ओझा, राजा सिंह, अशोक सिंह, दिलीप रजक, अमर सिंह आदि थे. मौके पर सपा जिलाध्यक्ष मो गयास, विजय यादव, अमित सिंह, मो शहाबुद्दीन खान, देवेन विश्वास, जेवीएम नेता साधन महतो, भाजपा नेता महावीर पासवान, उमेश यादव, अभिषेक पांडेय आदि भी थे.

पिता को पुलिस पर भरोसा नहीं पीड़िता के पिता ने पुलिस से मेडिकल जांच की है. कहा कि पीएमसीएच अस्पताल में गंभीर रूप से घायल पीड़िता जिंदगी व मौत से जूझ रही है. पुलिस ने अपने लिखे फर्द बयान पर कब हस्ताक्षर लिया, मालूम नहीं है. हम पुलिसिया कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं. मुझे अंदेशा है कि पुत्री के साथ दुराचार की घटना हुई है. पुलिस ने एफआइआर में कहीं बोलेरो, मोटरसाइकिल व तीन अन्य अपराधियों का जिक्र तक नहीं किया है. जब तक अन्य तीन अपराधियों की गिरफ्तारी व उन्हें कड़ी सजा नहीं मिल जाती, पुत्री को न्याय नहीं मिलेगा. विहिप के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य उमाशंकर तिवारी ने घटना की निंदा की है.

पीड़िता ने कहा : मेरे साथ हुआ है दुष्कर्म

मैं स्वतंत्रता दिवस के दिन झंडोत्तोलन के बाद घर लौट रही थी. तभी मुझे पकड़ लिया गया. मेरे साथ दुष्कर्म किया गया है. चार लड़कों में से एक को मैं पहचानती हूं. उक्त बातेंसुदामडीह थाना क्षेत्र की दुष्कर्म की नाबालिग पीड़िता ने झारखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर से गुरुवार को कही. आयोग की अध्यक्ष मामले की जानकारी लेने गुरुवार को धनबाद पहुंची थी. यहां उन्होंने पूरी टीम के साथ पीएमसीएच में पीड़िता से मुलाकात की. बकौल अध्यक्ष: पीड़िता ने उन्हें बताया कि उसके साथ दुष्कर्म की घटना घटी है, बावजूद पुलिस जांच नहीं करवा रही है. पीड़िता अधिक बातचीत करने में सक्षम नहीं थी. उन्होंने सुदामडीह थाना प्रभारी को तत्काल मेडिकल कराने एवं धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराने का निर्देश दिया. कहा कि हर हालत में पीड़िता को न्याय दिलाया जायेगा. इधर समिति सदस्य शंकर रवानी ने बताया कि समिति की ओर से सुदामडीह थाना को पत्र भेज कर मेडिकल एवं धारा 164 के तहत बयान दर्ज करने को कहा गया है. मौके पर समिति के अनिल कुमार सिंह, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी साधना कुमारी, धनंजय प्रसाद महतो, पूनम सिंह, जेजे बोर्ड की नीता सिन्हा आदि मौजूद थीं.

थाना के सामने कैंडल जुलूस

सुदामडीह. घटना के विरोध में गुरुवार की शाम संयुक्त मोर्चा ने कैंडल जुलूस निकाला. जुलूस रिवर साइड लाल मैदान से निकल कर न्यू माइनस, हाटतल्ला, आंबेडकर चौक सवारडीह, सुदामडीह मेन कॉलोनी होते हुए सुदामडीह थाना पहुंचा. जहां लोग कैंडल के साथ थाना के मुख्य गेट पर बैठ गये. जुलूस में शामिल लोगों के हाथों में तख्तियां थी. जुलूस में पुलिस के प्रति लोगों में आक्रोश था. सुदामडीह थानेदार की अनुपस्थिति में पूर्व थानेदार रामेश्वर उपाध्याय ने संयुक्त मोर्चा के नेताओं से वार्ता की. आश्वासन के बाद लोग थाना गेट से वापस लौटे. मौके पर संयुक्त मोर्चा के पंकज मिश्रा, निताई महतो, नकुलदेव सिंह, साधन महतो, डेविड सिंह, नागेंद्र सिंह, संजय सिंह, मुन्ना सिंह, विजय यादव, संजय मंडल, शहाबुद्दीन खान, बिंदा राम, दिलीप कुमार, इम्तियाज अली आदि थे.

नुनूडीह से निकला कैंडल जुलूस

इधर मासस नेता सबुर गोराईं के नेतृत्व में नुनूडीह डंगाल धौड़ा के ग्रामीणों ने भी कैंडल जुलूस निकाला. जुलूस में दिलीप रजक, मो आजाद, विकास सिंह, विक्की कुमार, विनोद कुमार ,नेपाल कर्मकार, विक्की धाड़ी, कुंदन सिंह, प्रिंस सिंह,चंदन, राजू रजक आदि थे.

मनोंरजन / फ़ैशन

रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, 5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप
रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, 5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

धोखाधड़ी का यह मामला साल 2016 का बताया गया है एक प्रॉपर्टी डीलर ने रेमो डिसूजा पर 5 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवाया था सेक्शन 420, 406, 386 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई गाजियाबाद । डांस की दुनिया के ग्रेंड मास्टर में शुमार मशहूर कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा के लिए एक बुरी…

Read more

अन्य ख़बरे

Loading…

sandeshnow Video


Contact US @

Email: swebnews@gmail.com

Phone: +9431124138

Address: Dhanbad, Jharkhand

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com